समय का महत्व पर निबंध (Samay Ka Mahatva Essay In Hindi)

आज के इस लेख में हम समय का महत्व पर निबंध (Essay On Samay Ka Mahatva In Hindi) लिखेंगे। समय का महत्व पर लिखा यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए लिखा गया है।

समय का महत्व पर लिखा हुआ यह निबंध (Essay On Samay Ka Mahatva In Hindi) आप अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए इस्तेमाल कर सकते है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयो पर हिंदी में निबंध मिलेंगे, जिन्हे आप पढ़ सकते है।


समय का महत्व पर निबंध (Importance OF Time Essay In Hindi)


प्रस्तावना

धीरे-धीरे रे मन, धीरे सब -कुछ होये।

माली सींचे सौ घड़ा, ऋतु आये फल होये।।

दुनिया मे सारी चीजें अपनी रफ्तार से घटती है, हड़बड़ाहट से कुछ नहीं होता। माली पूरे साल पौधे को सींचता है और समय आने पर ही फल फलते है। मतलब समय का इतना महत्व है कि हम चाहे लाख कोशिश कर ले, चाहे हम ये करले वो करले कुछ भी करले, परन्तु समय जब चाहेगा तब ही वो कार्य संम्पन होगा।

हम चाहे कितना भी अपने हाथ पैर चला ले, पर जब तक समय नहीं चाहेंगा तब तक कोई कार्य सम्पन्न नहीं हो सकता क्योंकि “समय बड़ा बलवान है भैया”।

समय के कई गुण

समय बड़ा बलवान है ओर समय की रफ्तार को पकड़कर चलना हमारा सर्वप्रथम कार्य है। समय की रफ्तार निरन्तर बढ़ती रहती है। समय हमारे जीवन के लिए महत्वपूर्ण है ओर समय को पकड़कर चलना जीवन में सफलता की सबसे बड़ी चाबी है।

समय के निष्ठा का पालन करना मनुष्य के सबसे अच्छे गुणो में से एक है। यह एक ऐसी आदत है, जो हमें सफल बनाने में सबसे अधिक सहायक होती हैं। क्योंकि जिसने समय पर प्रत्येक कार्य को किया, वो समय के छूटने से कभी दुखी नही होगा।

जैसा कि नेल्सन मंडेला ने कहा है की में जीवन में अपनी सफलता के लिए समय निष्ठा का ऋणी हूं। समय निष्टा हमारे दैनिक जीवन, सामाजिक जीवन तथा व्यापारिक जीवन में हमको सर्वप्रिय बनाता है।

महात्मा गांधी जैसे अन्य महान व्यक्तियों ने समय को बहुत उपयोगी और जरूरी बताया है। तभी तो ऐसे महान व्यक्तियों के नाम आज भी हमारी जुबान पर आ जाते है। हमारा जीवन पानी के बुलबुले के समान हैं, कब वो बुलबुला फुट जाए इसका हमको कुछ पता नहीँ।

अर्थात हमारा जीवन समय के बुलबुले जैसा ही है, कब खत्म हो जाये कोई नहीं कह सकता। इसलिए इस सीमित समय को हमे पकड़कर रखना होंगा ओर इसमे ही रहकर हमें हमारे जीवन के सभी सपनो को पूरा करना होंगा।

यह बात सत्य है कि हमारे जीवन में भगवान ने एक सीमित समय दिया है और जितना समय हमें दिया है, उस समय में ही रहकर हमें हमारे प्रत्येक कार्य को करना है। इसमें कुछ अच्छे और कुछ बुरे कार्य भी होते है, जो हमारी खुद की सोच नही होती। ये उप्पर वाले के लिखे काम है, जिसे हमे एक कठपुतली बन कर निभाने पड़ते है और जो हमारा कर्म है।

अच्छे कार्य हमें बुलंदियों तक पहुंचाते हैं, तो बुरा कार्य हमे एक सिख ओर एक तकलीफ दे जाता है ओर इसका पता व्यक्ति को समय रहते चल जाता है कि उन्होंने गलत कार्य किया है। यहाँ पर वही कहावत सार्थक होती है “अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत”।

इसलिए हमें हमेशा अच्छे कार्य को समय की उपयोगिता को देखकर समय पर पूरा करना चाहिए। यदि हम कार्य करने में आलस करते हैं, तो हमारे सभी कार्य सही तरह से पूरे नहीं होते और हमे प्रत्येक कार्य मे देरी हो जाती है। इस कारन लोग हमें पसंद भी नहीं करते।

अपने जीवन में हर कार्य के लिए जैसे स्कूल जाना, ऑफिस जाना, सोना, जागना प्रत्येक कार्य अगर हम समय को बहुमूल्य जान कर करे, तो ये हमें अपने जीवन में अवश्य सफलता प्राप्त कराते है।

क्योंकि समय पर किया कार्य हमे जीवन की ऊंचाइयों तक पहुचाता है और जो इस सीमित समय मे कुछ नही करता उसे केवल निराशा और दुख ही होता है। इसलिए प्रत्येक कार्य सीमित समय पर करे।

समय का महत्व और कीमत

समय धन दौलत से भी ज्यादा कीमती है, क्युकी इसी कीमती समय मे हम धन दौलत भी कमा सकते है। आखिर समय ही तो सबसे महत्वपूर्ण वस्तु समान है। समय बहुमूल्य वस्तु के साथ-साथ एक बहुमूल्य धन भी है। धन तो हमारे जीवन में आता जाता रहता है, आज धन है कल नहीं है या फिर परसों फिर होगा।

परन्तु हाथ से निकल गया समय वापस नहीं आता। समय की कीमत वही जानता है जिसने समय पर प्रतेक कार्य किया है। समय की कोई कीमत नहीं होती है।अक्सर कुछ अहंकारी लोग ऐसा मानते है की समय को हमने हमारी मुठ्ठी में बंद करके रखा है।

परंतु समय हमारी मुठ्ठी से कब रेत के समान फिसल जाए यह कह नहीं सकते, इसलिए उस कीमती समय को पकड़कर रखिये। क्योंकि एक बार ये समय अगर हमारे हाथों से गया तो हम चाहकर भी इसे वापस नहीं ला सकते।

इसलिए प्रत्येक कार्य का एक टाइम टेबल बना के रखे। सुबह के काम के बारे में रात में ही सोच ले ओर दिन के काम के बारे सुबह ही तय करले। इससे प्रतेक कार्य को करने की एक समय सीमा निश्चित हो जाएंगी और वो कार्य कभी भी देरी से नही होंगा ओर हमे कोई पछतावा भी नही होंगा।

अगर हम स्कूल जाने वाले एक विद्यार्थी है, तो स्कूल के प्रतेक कार्य को समय पर ही करना चाहिए। कुछ समय मनोरंजन के लिए भी निकालना चाहिए। बेकार की बातों पर समय बर्बाद नही करना चाहिए।

आज के कार्य को कभी भी कल पर नही टालना चाहिए। क्योंकि समय बहुत कीमती है और इसका एहसास हमे जब होता है, तब बहुत देर हो चुकी होती है।

समय का महत्व समझिये

कहते है ना कि अगर हम हमारे जीवन मे किसी को महत्व देते है, तो वो भी हमे उतना ही महत्व देता है। परंतु अगर हमने किसी को महत्व देना बंद कर दिया और हम ये सोचे कि वो व्यक्ति केवल हमे ही महत्व दे, तो ये सम्भव नही।

क्योंकि समय अगर जरुरी है तो वो व्यक्ति भी तो है, जो इस समय का प्रयोग करता है। समय का महत्व हमारे जीवन की सबसे बड़ी आवश्यकता है। अगर हम समय को आज महत्व देंगे तो वो भी हमे उसका उतना ही फल देगा। अगर हम समय को महत्व नहीं देंगे, तो समय भी हमे हमारे कार्यो का फल नहीं देगा।

इसलिए हर काम के लिए सबसे पहले एक लक्ष्य बनाए। लक्ष्य के अनुसार प्रत्येक काम को करे, समय के महत्व को समझे और उसको प्राथमिकता दे। छोटे-छोटे काम की लिस्ट बनाये और जिस काम को पहले करना है उसे समय के साथ करे|

समय को काम के अनुसार तय करे, कही ऐसा ना हो ही की आप ऐसे काम को ज्यादा समय देदे, जिसे ज्यादा समय की जरूरत ना हो।

आलस मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु

आलस करेंगे तो वक्त से बहुत पीछे हो जाएंगे, क्योंकि जीवन मे आगे बढ़ना है तो आप जो आज कर रहे है उसी को प्रथम महत्व दे। आलस ना करे और किसी दूसरे कार्य के बारे में सोंचते ना रहे।

आज के बारे में ओर अभी के बारे में सोचे, क्योंकि यदि जीवन मे आगे बढ़ना है और अपने लक्ष्य को पाना है, तो आने वाले कल के बारे में सोचने से ज्यादा अपने प्रथम कार्य को पूरा करे।

आलस ही मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन है, इसलिए आलस को दूर भगाए ओर कहे कि तू हम पर हावी नहीँ हो सकता। क्योंकि हमें जीवन की इस डगर में जीत हासिल करनी है हार नहीं। हमेशा सोचिये में जीतूंगा ओर जित कर दिखाऊंगा, खुदसे और अपने आलस से।

कार्य को टालने की आदत छोड़े

किसी भी काम को टालने की आदत से बचे, जैसे मान लीजिये आप को आज अस्पताल जाना है या फिर किसी चीज का बिल चुकाना है। लेकिन अगर आप सोचते है की कल करलेंगे तो यही कार्य को टालने की आदत बहुत नुकसान दाय सिद्ध होती है। इसलिए किसी भी कार्य को टालने की आदत से बचे। जो काम आज करना है उसे आज ही करें, कल पर ना टाले।

समय की मांग

समय की पहली मांग है की लालच से बच कर रहे। क्योंकि सभी का दिमाग उप्पर वाले ने एक जैसा नही बनाया है। यदि कोई व्यक्ति किसी कार्य मे अत्यधिक सफल होता है, तो इसका मतलब ये नही की आप भी उसमे सफल हो जाएंगे। यही भावना लालच का रूप धारण कर लेती है।

समय के महत्व के हिसाब से कभी भी किसी भी चीज की लालच ना करे। अगर आपने किसी चीज का लालच किया, तो आप उस चीज के पीछे ही पड़ जाएंगे और जब समय निकल जायेगा तो आप सोचेंगे कि अरे इससे अच्छा तो हम किसी ओर काम के पीछे भागते तो सफल हो जाते।

देखा देखी की भावना अक्सर नुकसान पहुचाती है। जब लालच करके किसी चीज के पीछे आप पड़ते है और वो आपको नही मिलती, तो आप बहुत दुखी हो जाते है। इसलिए किसी भी लालच से समय रहते बचे, चाहे वो कोई कार्य ही क्यों ना हो।

इंटरनेट समय की बर्बादी

मनोरंजन जीवन के लिए जरूरी है, परंतु इतना भी नही की आप अपना पूरा समय उसी में ही बर्बाद करें। आज की तारीक में इंटरनेट, मोबाइल, सोसल साईट्स हमारे जीवन की आवश्यकता बन गयी है। परंतु ये हमारे समय को व्यर्थ में ही बरवाद करती है।

इसलिये जब इसकी जरूरत हो तभी इसका प्रयोग करना चाहिए, हर वक्त इसी में ही लगे नहीं रहना चाहिए। ओर तो ओर आज कल बड़े से लेकर छोटे सभी अपना समय इसी में ही बर्बाद करते हुए दिख जाते है।

जबकि अपने कीमती समय को किसी अच्छे कार्य में इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि अगर ये आपके हाथ से छूट गया तो फिर वापिस नही आता। फालतू के कामो से अच्छा है की इस कीमती समय को आप अपनी पढ़ाई, अपनी शिक्षा, अपने काम और अपनों के लिए इस्तेमाल करे।

उपसंहार

समय धन दौलत से भी अधिक बहुमूल्य होता है। संसार में समय को सबसे अधिक महत्वपूर्ण एवं मूल्यवान धन मांना गया है। अतः हमें इस मूल्यवान धन अर्थात समय को व्यर्थ नष्ट नहीं करना चाहिए, क्योंकि बीता हुआ समय वापस नहीं आता।

इसके विषय में कहावत है कि …..

“बिता हुआ वक्त फिर हाथ आता नहीं।

समय किसी की प्रतीक्षा करता नहीं।।

समय का उपयोग करे सही कार्यो में।

क्योंकि कीमती समय बाद में आता नहीं।।

समय का सदुपयोग करे, इसे इतने आसानी से जाने ना दे, इसे पकड़ कर रखिये। इसमे रहकर ही अपने सारे सपने ओर कार्यो को करे। समय का महत्व इस बात से भी स्पष्ट है कि यदि धन खो जाए तो वापिस से कमाया जा सकता है, यदि स्वास्थ्य खो जाए तो उसको भी फिर से पा सकते है।

रिश्तों में खटास आये तो उसे भी समय रहते सही कर सकते है। परंतु समय हाथ से निकल जाए तो वापस नहीं आ सकता। जो व्यक्ति समय का सदुपयोग करता है ओर इस बहुमूल्य वस्तु समय की कीमत समझता है, वो जीवन मे कभी असफल नही हो सकता।


तो यह था समय का महत्व पर निबंध, आशा करता हूं कि समय का महत्व पर हिंदी में लिखा निबंध (Hindi Essay On Samay Ka Mahatva) आपको पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा है, तो इस लेख को सभी के साथ शेयर करे।

Sharing is caring!

Leave a Comment