इंटरनेट की दुनिया पर निबंध (Internet Essay In Hindi)

आज के इस लेख में हम इंटरनेट पर निबंध (Essay On Internet In Hindi) लिखेंगे। इंटरनेट पर लिखा यह निबंध बच्चो और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए लिखा गया है।

इंटरनेट पर लिखा हुआ यह निबंध (Essay On Internet In Hindi) आप अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए इस्तेमाल कर सकते है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयो पर हिंदी में निबंध मिलेंगे, जिन्हे आप पढ़ सकते है।


इंटरनेट की दुनिया पर निबंध (Internet Essay In Hindi)


प्रस्तवना 

इंटरनेट विज्ञान की वह देंन है, जिसे सहज सम्भाल कर प्रयोग किया तो और इससे सही जानकारी ही प्राप्त करि तो, ये इंसान को सही गलत! आसानी से बता देता है। Internet आज हमारे आवश्यकता की कुंजी बन गया है, इसके बिना कोई भी कार्य जैसे सम्भव ही नही है।

वैसे भी आज का युग आधुनिक युग है ओर आधुनिक युग में कोई भी काम इंटरनेट के बिना सम्भव ही नही है। इंटरनेट एक ऐसा शब्द है जिसे बच्चों से लेकर बड़े सभी प्रयोग करते है। जिसे भी देखो सभी Internet का प्रयोग करते दिख जाते है। एक प्रकार से इंटरनेट हमारी जीने की एक वजह बन गया है।

इंटरनेट ने हमारी बहुत सी मुश्किलों को आसान कर दिया है जिसकी वजह से कोई भी काम हमें आसान और सरल ही लगने लगा है। इंटरनेट एक प्रकार का ज्ञान का भंडार है। ये एक वो जादुई चिराग जैसा है जिसपे उंगलियों का प्रयोग करते ही हमे हमारे सभी सवालो का जबाव प्राप्त हो जाता हैं।

यह एक जानकारी की छोटी सी डिक्शनरी के समान है। जिसे हम हमारी जेब मे भी रख सकते है और जरूरत पड़ने पर इसे खोल लेते है और हमारे सवालों का जबाब प्राप्त कर लेते है।

सो साल पहले किसी ने ये सोचा भी नही होंगा की इंसान खुद ही एक ऐसी चीज का अविष्कार करेंगा। जिसमें दुनिया की सभी देशों की जानकारी प्राप्त कर लेंगा ओर सभी देश इस इन्टरनेट के जरिये आपस मे एक दूसरे से जुड़े होंगे।

आज कहि भी जाना या दुनिया के किसी भी कोने को देखना एक सपना नही है। बस इंटरनेट खोला और देख लिया जो भी शहर या जो भी देश देखना हो। आज के समय मे इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क बन गया है।

Internet की परिभाषा

इंटरनेट एक ऐसा आधुनिक उपकरण है। जो पूरी दुनिया के कम्प्यूटर को एक नेटवर्क से जुड़ा हुआ होता है। इंटरनेट को विशवस्तर पर जुड़ा हुआ नेटवर्क सिस्टम है। जो TCP/IP प्रोटोकॉल के उपयोग से एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर के बीच विभिन्न प्रकार के मीडिया के माध्यम से सूचनाये या जानकारी के आदान – प्रदान के लिए उपयोग किया जाता है।

इस नेटवर्क में कम्प्यूटर सर्वर भी शामिल होता हैं। “एक तरह से दुनिया के सभी कम्प्यूटर का जुड़ना ही Internet कहलाता है”।।

इंटरनेट का अर्थ

इंटरनेट आज हमारे जीवन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हो गया है। और सबसे अधिक आधुनिक युग का लोकप्रिय नेटवर्क बन गया है। इंटरनेट को आधुनिक ओर उच्च तकनिकी विज्ञान का आविष्कार भी माना जाता है।

दुनिया भर के सभी नेटवर्क इंटरनेट से जुड़े हुए है। इस तरह से हम इसे नेटवर्कों का नेटवर्क भी कह सकते है। इस प्रकार इंटरनेट कम्प्यूटर की दुनियां का महत्वपूर्ण साधन है।

इंटरनेट के प्रकार

नेटवर्क की तीन कैटेगरी होती है।

  1. LAN (Local Area Network)
  2. MAN (Metropolitan Area Network)
  3. WAN (Wide Area Network)

Wide Area Network दो प्रकार के होते है। जिसमे पहला है TANs (Tiny Area Network) यह कनेक्शन में लेन (LANs) जैसा पर उससे  छोटा होता है। WAN का दूसरा प्रकार है CANs (Campus Area Network) यह एक तरीके से MAN नेटवर्क जैसा होता है।

इंटरनेट का इतिहास

Internet तेज गति से बढ़ने वाला नेटवर्क है। इसका प्रारंभ 1969 में अमेरिका के रक्षा विभाग में अन्वेषण के कार्यो के लिए हुआ था। शुरू में इसे ARPANET (आपरानेट) नाम दिया गया। 1971 में कम्प्यूटर के विकास और आवश्यक व्रद्धि के कारण ARPANET या इंटरनेट लगभग 10,000 कम्प्यूटर का नेटवर्क बना और आगे चलकरव 1987 से 1989 तक इसमे लगभग 1,00000 कम्प्यूटर बने।

1990 में ARPANET के स्थान पर इंटरनेट का विकास हुआ है। 1992 में 10 लाख कम्प्यूटर 1993 में 20 लाख कम्प्यूटर ओर इसकी बढ़ोतरी बढ़ती ही रही। इंटरनेट सही मायने में लोगो के लिए कम्युनिकेशन के एक्सेस का सबसे सस्तब्व तीव्र गति का माध्यम बन गया। इसके विकास में बहुत से लोगो का योगदान रहा है। इसके शुरू के विकास की अवस्था 1950 के दशक की कही जा सकती है।

US की सरकार ने USSR (सोवियत संघ) से USSR के 1957 में लांच करने से US के हाथ मे चली गयी थी और फिर ARPA (एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी) बनाई गई। जिसमें J.C.R. Licklider कम्प्यूटर विभाग के प्रमुख थे।

इंटरनेट अपने आप मे कोई अविष्कार नहीं है। Internet पहले से ही मौजूद टेलिफोन, कम्प्यूटर ओर दूसरी तकनीक को मिलाकर बनाया है।

Internet का महत्व

Internet मानव को विज्ञान द्वारा दिया गया एक बेहतरीन उपहार से कम नहीं है। इंटरनेट सम्भावनाओ का सागर है। इंटरनेट के माध्यम से हम किसी सूचना, किसी भी चित्र, वीडियो आदि को दुनिया के किसी भी कोने में पोहचा सकते है।

और किसी के पास भी ये पल भर में पहुँचा सकते है। इंटरनेट के माध्यम से हम इमेल भेज सकते है और ईमेल प्राप्त भी कर सकते है। Internet संदेश भेजने का सबसे सस्ता और अच्छा साधन है। इसके लिए किसी को भी एक जगह से दूसरी जगह जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

हम हमारे सगे सम्बंधि, दोस्तों से चैटिंग कर सकते है। और ये चेटिंग फेसबूक ओर वॉट्सएप के माध्यम से की जाती है यह सभी को ही पता है। साथ ही हम एक दूसरे को आपस मे देखकर भी बात कर सकते है, ओर उसका माध्यम है विडियो कालिंग।

वीडियो कॉलिंग के द्वारा हम आपस में एक दूसरे को देखकर भी बात कर सकते ओर कांफ्रेंस मीटिंग इत्यादि का काम भी हम इंटरनेट द्वारा बहुत आसानी से कर सकते है।

इंटरनेट के माध्यम से हम कोई भी हमारी गुणवत्ता को लोगो के साथ शेयर कर सकते है। हम हमारे विचार लोंगो तक पुहंचा सकते है। इंटरनेट के माध्यम से हम व्यपार भी कर सकते है और अपनी वस्तुओं का क्रय -विक्रय भी इंटरनेट द्वारा कर सकते है।

इसका सबसे बड़ा साधन एक बेवसाइट होती है। जिसे बना कर हम हमारे ब्लॉग आदि चला सकते है और लोगो को बहुत ज्ञानवर्धक जानकारी प्रदान करा सकते है। इंटरनेट के माध्यम से हम रोजगार पा सकते है।

अपना बायोडाटा घर बैठे किसी भी कम्पनी तक पहुँचा सकते है और Internet पर ही अपना बायोडाटा डाल सकते है। वास्तव में इंटरनेट बेहतरीन सुविधा का साधन है और इसका उपयोग कोई भी कर सकता है।

आजकल तो इंटरनेट बहुत ही सस्ता हो गया है और तो ओर इसका उपयोग छोटे से छोटा बच्चा भी कर सकता है। मानव की बहुत सी नई नई उपलब्धियां इंटरनेट के माध्यम से ही सम्भव हो पायी है।

Internet के लाभ

Internet के माध्यम से हम कई प्रकार के लाभ प्राप्त कर सकते है। या ऐसे भी कह सकते है कि सभी काम को घर बैठे ही कर सकते है, बस हमे इंटरनेट का प्रयोग करना आना चाहिए।

  • इंटरनेट की सहायता से हम किसी भी तरह की जानकारी सर्च इंजन द्वारा प्राप्त कर सकते है और यह मद्त मिनटों में प्राप्त कर सकते है।
  • इसमें हम शोशल नेटवर्किंग साइट की सहायता से नये-नये दोस्त बना सकते है। जिनसे आप बहुत कुछ सिख सकते है।
  • इंटरनेट के माध्यम से अगर हम बोर हो रहे हो तो इसके माध्यम से हम फ़िल्म, गेम्स, गाने डाउनलोड करके हमारा मनोरंजन कर सकते है।
  • इंटरनेट के माध्यम से हम ऑनलाइन टिकट बुकिंग, ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन बैंकिंग, ऑनलाइन नोकरी आदि की सुविधा प्राप्त कर सकते है।
  • इंटरनेट के माध्यम से हम हमारे जरूरी दस्तावेज को पलक झपकते ही एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेज सकते है।
  • इंटरनेट के माध्यम से हम बिजली, पानी ओर टेलीफोन का बिल का भुगतान घर बैठे कर सकते है। ये काम बिना किसी लाइन में लगकर ओर कोई भी परेशानी को झेले बिना कर सकते है।
  • इंटरनेट की सहायता से हम किसी भी खबर को एक ही शेयर से बहुत सारे लोंगो तक पहुचा सकते है।
  • जो रेगुलर पड़ाई करने नही जा सकते है और लोकडाउन की बजह से जा भी नही रहे है। तो ऑनलाइन क्लासेज के माध्यम पड़ाई घर पर ही कर सकते है।
  • सुयोग्य वर की तलाश में कोई हो तो इंटरनेट की सहायता से वो सुविधा भी प्राप्त कर सकते है।
  • ओर तो ओर कोई भी ऑनलाईन कोर्स हम घर बैठे सिख सकते है। इसमें कोई भी पैसा खर्च करने की आवश्यकता नहीँ है। जैसे कुकिंग क्लासेस, फैशन डिजाइनर आदि हम YouTube के द्वारा आसानी से सिख सकते है।
  • इंटरनेट के जरिये हम आपस मे कितनी भी दूर क्यो ना हो आपस मे मिल पाते है। इंटरनेट ने हमारे जीवन को बहुत ही आसान बना दिया है।

Internet की हानियां

इंटरनेट से जहां हमे कई लाभ है वही इसके दुष्प्रभाव भी कम नहीं है ओर इसके दुष्परिणाम इतने ख़तरनाक है कि हमें सोचने पर मजबूर कर देता है कि इतनी आधुनिकता ओर इतनी तकनीकी का विकास हमारे लिए सही भी है या नही?

  • इंटरनेट से हम हमारे कार्यो को आसान बनाने के लिए घर से ही होटल रिज़र्वेशन, रेलवे टिकट बुकिंग, ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन वैकेंसी आदि ढूढ़ने के लिए अपनी सभी पर्सनल जानकारी जैसे नाम, पता, फोन नम्बर, अकाउंट नम्बर सभी फोन पर ही दे देते है, जो कि गलत है। इसका गलत उपयोग होने का खतरा बना ही रहता है और आजकल तो गोपनीय दस्तावेज की चोरियां भी इंटरनेट द्वारा सम्भव हो रही है।
  • आजकल जासूसों के द्वारा देश की सुरक्षा व्यवस्था पर भी प्रभाव पड़ा है। जो सुरक्षा की दृष्टि से खतरनाक हो गया है।
  • इंटरनेट के गलत प्रयोग के लिए स्पैमिंग का इस्तेमाल किया जाता हैं। यह एक अवांछिय ईमेल होता है। जिसके माध्यम से चोर गोपनीय दस्तावेज की चोरी कर लेता है।
  • इंटरनेट ने कई प्रकार की बीमारियों ने जकड़ लिया है। इंटरनेट के बढ़ते उपयोग से कैंसर की बीमारी होने लगी है। इंटरनेट के माध्यम से ही कुछ असामाजिक तत्व दूसरे के कम्प्यूटर की कार्य प्रणाली को नुकसान पहुंचाने के लिए वायरस भी भेजते है।
  • इंटरनेट के प्रयोग से व्यक्ति को इसकी आदत सी हो गई हैं। फिर वो इसके बिना एक दिन तो क्या एक पल भी नही रह सकता है।
  • ये बाते तो हॉलि देखने मे आया है कि व्यक्ति किसी भी पिक्चर, या वीडियो को जब लोगो के साथ शेयर करता है। तो वो चाहता है की उसे बहुत लाइक ओर कमेंट मिले और व्यक्ति के मनमुताबिक जब लाइक ओर कमेंट्स नहीँ मिलते तो व्यक्ति के दिमाग पर इन सब चीजों का असर होता है। इससे उसकी मानसिक स्थिति इतनी खराब हो जाती है कि वह व्यक्ति आत्महत्या जैसे खतरनाक कदम को उठाने में जरा भी नही हिचकिचाता है।
  • इंटरनेट के माध्यम से अशलील सामग्री पोरोनोग्राफी साइट पर अत्याधिक मात्रा में रहती है। जिसका बुरा प्रभाव सबसे अधिक बच्चों पर ओर युवा वर्ग पर पड़ रहा है। इन सब को देखजर लोग गलत रास्ते की ओर बढ़ते है और अपराध करने लगते है।ये हमारे समाज के लिए एक खतरनाक जहर की तरह सिद्ध हो रहा है।
  • आजकल की शोशल साइट्स की बजह से लोंगो में पहले की तरह प्यार और अपनापन खो सा जा रहा है। जहां पहले लोग पल दो पल या घन्टो बैठकर अपने सुख दुख बांट लेते थे, वही आजकल सभी बाते केवल एक फोन पर कर लेने से हो जाती है। लेकिन वो अपनत्व ओर प्यार इस इंटरनेट की वजह से कही खो जा रहा है।
  • अभी कुछ दिन पहले की ही बात है कि केवल एक 16 साल का लड़का हॉर्ट अटेक की बजह से मृतु को प्राप्त हो गया। और वो भी इसलिए कि वो बच्चा PUBG जैसे गेम को खेल रहा था और उसमें हारने की वजह से ही खेलते-खेलते उसकी मृतु हो गयी।
  • इंटरनेट ने जहां हमारे बहुत काम आसान कर दिये है वही अत्यधिक नुकसान भी प्रदान करे है। इसलिए हमें Internet का कम ही इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि इंटरनेट हमारी मानसिक, शारीरिक ओर समाजिक दृष्टिकोण से हानिकारक ही सिद्ध हो रहा है।

उपसंहार

ये बात तो हमे पता चल ही गयी कि इंटरनेट से जहां हमे फायदा होता है वही हमे नुकसान भी पहुचाता है। इसलिए इससे हमें लाभ ही लेना चाहिए ना कि इसकी हानियों का प्रयोग करना चाहिए।

अगर इसका हम सही प्रयोग करे तो ये हमारे लिए एक अच्छा दोस्त साबित होता है। जव इंटरनेट हमारे लिए इतना जरूरी है, हमारे दोस्त समान है। तो हमे भी इसका ना ही गलत उपयोग करना चाहिए और ना ही इसको कोई नुकसान पहचाना चाहिए।

जिस प्रकार बूंद -बूंद से ज्ञान बढ़ता है। तो उसी प्रकार अपना ज्ञान बडाये ना कि इससे किसी दूसरे को ओर ना ही अपने आप को नुकसान पहुचाये।

बून्द- बून्द घड़ा भरे, ऐसे ज्ञान बडाये

गलत ना करे इस्तेमाल इसका

सच्चे दोस्त इसके बन जाये…

जरूरत पड़ने पर ही इंटरनेट का लाभ उठाएं।


इन्हे भी पढ़े :- 

तो यह था इंटरनेट पर निबंध, आशा करता हूं कि इंटरनेट पर हिंदी में लिखा निबंध (Hindi Essay On Internet ) आपको पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा है, तो इस लेख को सभी के साथ शेयर करे।

Sharing is caring!

Leave a Comment