ईमानदारी जीवन का एक तरीका है हिंदी निबंध (Integrity A Way Of Life Essay In Hindi)

आज हम ईमानदारी जीवन का एक तरीका है पर निबंध (Essay On Integrity A Way Of Life In Hindi) लिखेंगे। ईमानदारी जीवन का एक तरीका है पर लिखा यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए लिखा गया है।

ईमानदारी जीवन का एक तरीका है पर लिखा हुआ यह निबंध (Essay On Integrity A Way Of Life In Hindi) आप अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए इस्तेमाल कर सकते है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयो पर हिंदी में निबंध मिलेंगे, जिन्हे आप पढ़ सकते है।


ईमानदारी जीवन का एक तरीका है हिंदी निबंध (Integrity A Way Of Life Essay In Hindi)


प्रस्तावना

जिन्दगी की नीति सत्यनिष्ठा है। जीवन जीने का सबसे महत्वपूर्ण सिद्धांत सच्चाई होती है। ईमानदारी से जो लोग जीवन बिताते है, उन्हें कोई भय नहीं होता है। मनुष्य के अंदर की सच्चाई उसे बेहतर और ईमानदार इंसान बनाती है।

ईमानदार व्यक्ति सदैव नैतिक मूल्यों और सिद्धांतो से जुड़े रहते है। ईमानदार व्यक्ति सफलता पाना चाहता है, मगर सच्चाई की राह पर चलकर। ईमानदार व्यक्ति कभी झूठ नहीं बोलता है। सच का सामना ईमानदार लोग ही कर सकते है।

जो इंसान ईमानदारी की राह पर चलता है, वह जीवन में सफलता और समृद्धि पाता है। सच्चे व्यक्ति को चाहे कितनी ही कठिनाईयों का सामना करना पड़े, वह हमेशा सच का साथ देते है। सत्य परेशान हो सकता है, मगर पराजित नहीं हो सकता।

ईमानदार व्यक्ति की एकमात्र नीति है सतयनिष्ठा। सच्चाई और सत्य के प्रति निष्ठा को अपनाना इतना सरल नहीं होता है। इसके लिए कड़ी परिश्रम करनी पड़ती है। ईमानदारी व्यक्ति सबके साथ अच्छे से रहते है और सबका भला करते है। ईमानदार व्यक्ति का दृष्टिकोण सकारात्मक होता है।

सही फैसले लेकर मंज़िल प्राप्त करना

ईमानदार व्यक्ति चाहे जो हो जाए हमेशा सही फैसले लेते है। वह किसी दबाव और लालच में आकर अपने सच्चाई की नीति को नहीं छोड़ते है। पहले के लोग ईमानदारी से जीवन यापन करते थे।

महात्मा गाँधी सत्य के पुजारी थे और हमेशा सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चले। लोगो को शान्ति और सच्चाई के राह पर चलने के लिए उन्होंने प्रेरित किया। अब्राहम लिंकन और नेल्सन मंडेला ने भी सत्यनिष्ठा की नीति के मुताबिक चले और अपनी मंज़िल हासिल की।

ईमानदार व्यक्ति के गुण

ईमानदार व्यक्ति में कोई दिखावा और बुरी आदतें नहीं होती है। वह किसी भी तरह का नियम उल्लंघन नहीं करते है। वह एक अनुशासित जीवन यापन करते है और विनम्रता के साथ लोगो से बात करते है।

वह समय का सदुपयोग करते है और सभी व्यक्ति के साथ एक समान बर्ताव करते है। जिन लोगो के साथ अन्याय हुआ है, ईमानदार व्यक्ति उनका साथ देते और सच के साथ खड़े होते है। ईमानदार व्यक्ति किसी भी आदमी को मुसीबत में नहीं देख सकते है। वह ऐसे लोगो की सहायता अवश्य करते है।

ईमानदार व्यक्ति कर्त्तव्य से पीछे नहीं हठता

ईमानदार व्यक्ति पूरे जिम्मेदारी के साथ अपने कर्तव्यों को निभाते है। ईमानदार व्यक्ति हमेशा सच बोलते है और असहाय लोगो की मदद करते है। ईमानदार बनने के नियम का हमेशा पालन करना इतना सहज नहीं होता है। हर रिश्ते में विश्वास का निर्माण सत्यनिष्ठा करती है।

रिश्तों का निर्माण

ईमानदार व्यक्ति अपने सारे रिश्ते निभाता है। चाहे कोई भी रिश्ता हो, उसे ईमानदारी के साथ निभाता है। जो लोग ईमानदार होते है, वह सभी रिश्तेदारों का मन जीत लेते है। परिवार के लोग उसे प्यार और सम्मान देते है।

ईमानदारी की राह पर चलने से व्यक्ति को ख़ुशी की अनुभूति होती है। ईमानदार व्यक्ति झूठ बोलकर अपनों का दिल नहीं दुखाता है। रिश्ते तभी सफल होते है जब लोग ईमानदार बनते है।

सत्य हमेशा कड़वा होता है

यह एक आम कथन है। लेकिन बिलकुल सच है, सच  हमेशा कड़वा होता है। जो सच्चाई का साथ देता है, उसकी राह उलझनों और मुश्किलों से भरी होती है। बिना हार माने अगर वह धैर्य और ईमानदारी के साथ सत्य के राह पर चलता है, तो वह अपनी मंज़िल को पा लेता है। वह अपना सर समाज में उठाकर चलता है। सच्चाई एक साधारण इंसान को एक बेहतर इंसान में परिवर्तित कर देती है।

बच्चो में ईमानदारी जैसे गुणों का विकास

शिक्षकों और अभिभावकों को बचपन से ही बच्चो में ईमानदारी जैसे गुणों को विकसित करना चाहिए। बच्चे बड़ो और अपने अध्यापको से प्रेरित होते है। अगर बड़े ईमानदारी के साथ जीते है, तो बच्चे भी वैसे ही उनसे सीखते है। जीवन को सकारात्मक बनाने के पीछे ईमानदारी जैसे गुण विशेष योगदान देते है।

तानावरहित जीवन

ईमानदार व्यक्ति तनाव जैसी परेशानियों से दूर रहता है। वह सुकून और सुख भरी जिन्दगी जीता है। ईमानदार व्यक्ति तनावरहित और परेशानी मुक्त जीवन जीता है। बेईमान लोगो को अपने गुनाहो के पकड़े जाने का डर सताता है। वह तनावपूर्ण जिन्दगी जीता है। तनाव की वजह से वह कई प्रकार की बीमारियों से ग्रस्त हो जाता है।

ईमानदार व्यक्ति का सम्मान

ईमानदार व्यक्ति चाहे धनवान हो चाहे ना हो, उसे हर जगह समाज में मान सम्मान मिलता है। वह समाज को बेहतर बनाने के लिए कार्य करता है। उसका दृष्टिकोण औरो से अलग होता है। नकारात्मकता उसे छू भी नहीं सकती है। ईमानदार व्यक्ति की प्रशंसा हर जगह और पूरे राष्ट्र में होती है।

ईमानदार लोगो से सभी प्रभावित

ईमानदार लोगो से सभी आकर्षित होते है। ईमानदार व्यक्ति समाज में कई लोगो के लिए उदाहरण से कम नहीं है। सभी लोग ईमानदार लोगो के व्यक्तित्व से प्रभावित होते है। ईमानदार व्यक्ति की छत्रछाया में बुरे लोग भी सुधर जाते है। ईमानदार व्यक्ति समाज के लिए प्रेरणादायक स्रोत है।

कार्यस्थल में प्रशंसा

ईमानदार व्यक्ति अपने कार्य को मेहनत और ईमानदारी के साथ पूर्ण करते है। चाहे दफ्तर हो या व्यापार हर जगह लोग ईमानदार व्यक्ति से प्रभावित होते है। लोग ईमानदार व्यक्ति की हमेशा तारीफ़ और कदर करते है।

ईमानदारी एक अच्छी और सच्ची आदत

ईमानदार व्यक्ति पर हर कोई भरोसा कर सकता है। उस पर कोई भी अपना कार्य सौंपकर निश्चिंत हो जाते है। क्यों कि उन्हें यह विश्वास है कि वह सच्चाई के साथ वक़्त पर कार्य पूर्ण करेंगे। मनुष्य की सबसे अच्छी आदत और गुण ईमानदारी अर्थात सत्यनिष्ठा का पालन करना होता है।

ईमानदारी की अहमियत

ईमानदार व्यक्ति की सबसे बड़ी संपत्ति उसकी ईमानदारी होती है। ईमानदार बनने की आदत अभ्यास से होती है। ईमानदार व्यक्ति संयम और परिश्रम करके जीवन व्यतीत करता है। जीवन में अगर सही माईनो में व्यक्ति को सफल होना है, तो ईमानदारी जैसे आदत को अपनाने की ज़रूरत है।

आज के इस कलयुग में बहुत कम लोग है जो ईमानदार है और ईमानदारी की रोटी खाते है। ईमानदारी समाज में व्याप्त अपराधो को रोक सकती है और युवाओ को सही मार्ग दिखा सकती है।

बेईमान होना एक पाप होता है

जो लोग स्वार्थी होते है वह अपने फायदे के लिए बेईमानी का सहारा लेते है। बेईमानी की राह पर चलकर उसे कोई सुख प्राप्त नहीं होता है। जिसे वह सुख समझता है, वह उनके मन का वहम होता है।

बाद में चलकर उनका जीवन दुखो से भर जाता है। समाज के लोग बेईमान लोगो से किनारा कर लेते है। ईमानदार व्यक्ति स्वतंत्रता पूर्वक कार्य करते है और निडर होकर घूमते है।

लक्ष्य प्राप्ति

वफ़ादारी एक ऐसा गुण होता है जो मनुष्य को ईमानदार बनाता है। जो लोग ईमानदार होते हैं वे जीवन में कुछ भी हासिल कर सकते हैं और दूसरों की तुलना में सफल साबित हो सकते हैं।

जिनके पास ईमानदारी नहीं है। एक व्यक्ति, जो अपने भीतर की ईमानदारी को विकसित करता है और उसे अपने जीवन का एक तरीका बनाता है, वह निश्चित रूप से जीवन में सफल और समृद्ध होता है।

ईमानदारी अर्जित की जाती है, खरीदी नहीं जाती है। वर्षों के प्रयासों के साथ ईमानदारी व्यक्ति के जीवन का एक हिस्सा बन जाती है। ईमानदारी जैसी आदत जीवन में महान कार्य करने के लिए व्यक्ति को प्रोत्साहित करती है। व्यक्ति में सत्यनिष्ठा जगाने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है। ईमानदार व्यक्ति जीवन के प्रति आशावादी दृष्टिकोण रखते है।

विद्यार्थियों के जीवन में ईमानदारी की भूमिका

ईमानदारी की भूमिका के बारे में विद्यार्थियों को शुरुआत से ही शिक्षक अवगत कराते है। ईमानदारी सबसे महत्वपूर्ण आदत है, जिसे हर विद्यार्थी को अपनाना चाहिए। स्कूल इत्यादि शिक्षा संस्थानों में ईमानदारी जैसे गुणों का विकास बच्चो में किया जाता है।

बच्चे बड़ो के निर्देशों का पालन करते है। सच बोलना और अपने काम को वफ़ादारी के साथ समाप्त करना इत्यादि चीज़ें शिक्षक और अभिभावक मिलकर सीखाते है।

समृद्धि और सफलता

ईमानदारी यह निर्धारित करती है कि आप किस तरह के व्यक्ति हैं और आप किस प्रकार के निर्णय लेते हैं। खुद के प्रति सच्चे बने रहना और सही निर्णय लेना ईमानदार व्यक्ति का धर्म है। ईमानदारी से व्यक्ति समृद्धि हासिल कर सकता हैं। सत्यनिष्ठा की नीति लोगो में समृद्धि और सफलता लेकर आती है।

देश को ज़रूरत है ईमानदार लोगो की

देश की प्रगति ईमानदार लोगो पर टिकी है। देश में भ्रष्टाचार जैसे समस्याओं को ईमानदार और जिम्मेदार लोग ही सुलझा सकते है। सभी क्षेत्रों में लोग अगर ईमानदारी की नीति को अपनाएंगे तो देश में अपराध कम हो जाएंगे।

कुछ लोग आजकल नैतिक मूल्यों को भूल रहे है। समाज और राष्ट्र को प्रयत्न करना होगा और ईमानदारी जैसे विशेष गुण को आम लोगो में विकसित करना होगा। ईमानदारी की राह शुरू में मुश्किलों से भरी हुयी होती है, लेकिन यह इंसान को भविष्य में एक बेहतर ज़िन्दगी प्रदान करती है।

ईमानदारी कई प्रकार के सामाजिक मुद्दों को समाधान करती है। असल जिन्दगी में ईमानदारी बहुत लाभदायक है। इससे मन को अपार ख़ुशी और सभी लोगो का आशीर्वाद और दुआएं मिलती है।

निष्कर्ष

ईमानदारी का दामन थामे रखना ही अच्छा है। बेईमानी से लोग पैसा तो कमा लेते है, मगर इज़्ज़त नहीं कमा पाते है। एक न एक दिन बेईमान आदमी पकड़ा जाता है और उसका जीवन अंधकारमय हो जाता है। बेईमान व्यक्ति समाज के लिए अभिशाप है। ईमानदारी के साथ जीवन बिताना ही समझदारी है।


इन्हे भी पढ़े :-

तो यह था ईमानदारी जीवन का एक तरीका है पर निबंध (Integrity A Way Of Life Essay In Hindi), आशा करता हूं कि ईमानदारी जीवन का एक तरीका है पर हिंदी में लिखा निबंध (Hindi Essay On Integrity A Way Of Life) आपको पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा है, तो इस लेख को सभी के साथ शेयर करे।

Sharing is caring!

Leave a Comment