10 Lines On Bhagat Singh In Hindi And English Language

आज हम भगत सिंह पर हिंदी और इंग्लिश में 10 पंक्तिया (10 Lines on Bhagat Singh in Hindi and English) लिखेंगे। दोस्तों यह 10 पॉइंट class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए लिखे गए है।

10 Lines On Bhagat Singh In Hindi


  1. भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को बंगा गाँव मे हुआ था।
  2. भगत सिंह को लगभग सभी भाषाये आती थी, जिसमे उर्दू, पंजाबी, बंगाली और हिंदी भाषा शामिल है।
  3. भगत सिंह के पिता जी का नाम सरदार किशन सिंह तथा माता जी का नाम विद्यावती सिंह था।
  4. भगत सिंह के पिता एक किसान थे और उनकी माता विद्यावती गृहणी थी।
  5. भगत सिंह ने 13 वर्ष की छोटी सी उम्र में स्कूल छोड़ने का फैसला ले लिया था और उसके बाद उन्होंने फैसला लिया कि वह अपना जीवन देश की सेवा मे लगाएंगे।
  6. भगत सिंह ने अपनी स्कूली शिक्षा दयानंद एंग्लो वैदिक हाई स्कूल से पूरी की थी।
  7. स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद भगत सिंह ने सन 1923 में नेशनल कॉलेज लाहौर में प्रवेश लिया था।
  8. भगत सिंह ने चंद्रशेखर आजाद के साथ मिलकर हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एशौसिएसन की स्थापना कि थी।
  9. जालियनवाला बाग हत्याकांड जैसी घटना को देखने बाद भगत सिंह को बहुत ही दुःख हुआ था और तब से ही भगत सिंह ने अपने देश को अंग्रेजो के चंगुल से आजाद कराने की ठान ली थी।
  10. उनके पिता किशन सिंह और उनके दोनों चाचा सरदार स्वर्ण सिंह और अजित सिंह को ब्रिटिश सम्राज्य के खिलाफ जाने पर जेल हो गयी थी और जिस दिन वह जेल से रिहाय हुये थे, उसी दिन भगत सिंह का जन्म हुआ और इस वजह से भगत सिंह को भागोवाला यानि भाग्यशाली कहा गया।

5 Lines On Bhagat Singh In Hindi


  1. भगत सिंह एक सच्चे देशभक्त थे, वह बहुत ही कम उम्र में ही एक उत्कृष्ट अतुलनीय क्रांतिकारी बने।
  2. भगत सिंह के हर एक मिशन मे राजगुरु और चंद्रशेखर आजाद जैसे प्रमुख क्रांतिकारी उनका साथ देते थे।
  3. भगत सिंह ने 17 दिसंबर 1927 को एक पुलिस अधिकारी जॉन सॉन्डर्स की हत्या की और इसके साथ उन्होंने लाला लाजपत राय का बदला लिया और अपना संकल्प पूरा किया, जिससे उन्हें जेल जाना पड़ा।
  4. भगत सिंह ने 8 अप्रैल 1929 के दिन दिल्ली नीति विधानसभा पर बम फेका, जिसके आरोप मे उन्हें गिरफ्तार किया गया था।
  5. ब्रिटिश सरकार द्वारा भगत सिंह तथा उनके साथियो सुखदेव, गुरुदेव को 23 मार्च 1931 को फांसी दें दी गयी।

Few 15 Lines On Bhagat Singh In Hindi


  1. भगत सिंह का नाम आज हम गर्व के साथ लेते हैं, जिनका जन्म 27 सितंबर 1907 को लायलपुर जिले में हुआ था और जो अब वर्तमान में पाकिस्तान में स्थित है।
  2. उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हुए खुद के प्राण न्योछावर कर दिए थे।
  3. ऐसा माना जाता है कि बचपन में भगत सिंह को फिल्में देखना और रसगुल्ले खाना बहुत ज्यादा पसंद था, वे छिप छिपकर चार्ली चैप्लिन की फिल्मे देखा करते थे।
  4. भगत सिंह एक देशभक्त होने के साथ ही दार्शनिक, चिंतक, लेखक, पत्रकार और एक महान व्यक्तित्व वाले इंसान भी थे।
  5. भगत सिंह को हिंदी भाषा के अलावा उर्दू, अंग्रेजी, संस्कृत, बांग्ला, पंजाबी और आइरिश भाषा भी बहुत अच्छे तरीके से आती थी।
  6. भगत सिंह ने गांधीजी के असहयोग आंदोलन से प्रभावित होकर अपना स्कूल छोड़ दिया था और अपना ध्यान देश भक्ति में लगा लिया था।
  7. भगत सिंह एक सिख परिवार के थे, जहां पर दाढ़ी और बाल रखना बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता था, लेकिन अंग्रेजों से बचने के लिए उन्होंने अपने बालों को कटवा दिया था।
  8. भगत सिंह ने शादी करने से ही इनकार कर दिया था और वे चाहते थे कि वे अपने देश के लिए ही कार्य करते रहे।
  9. भगत सिंह ने मुख्य संगठन नौजवान भारत सभा, हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के लिए काम किया था।
  10. भगत सिंह के मुख्य नारे इंकलाब जिंदाबाद, साम्राज्यवाद का नाश हो यह थे, जिन्हें आज भी हम याद करते हैं।
  11. जब जलियांवाला बाग हत्याकांड हुआ तब भगत सिंह की उम्र 11 वर्ष थी और उस हत्या कांड से दुखी होकर उन्होंने एक देशभक्त के रूप में अपने जीवन को आगे बढ़ाने का फैसला लिया था, जहां उन्होंने देश के लिए कई लोगों को जागृत करने का कार्य किया था।
  12. भगत सिंह एक सच्चे दिल के देशभक्त थे, जिन्होंने कभी भी देश के विरुद्ध कोई कार्य नहीं किया और हर समय देशवासियों को प्रेरित करते रहे।
  13. भगत सिंह की मृत्यु 23 मार्च 1931 को हुई, जहां उन्हें सुखदेव और राजगुरु के साथ फांसी पर चढ़ाया गया, लेकिन उनके चेहरे पर एक शिकन तक नहीं आई थी।
  14. आज भी भगत सिंह का नाम गर्व के साथ लिया जाता है, जहां उन्होंने बिना सोचे समझे प्राण न्योछावर कर दिए और देश की युवा पीढ़ी को भी जागृत करने का काम किया।
  15. इस प्रकार से भगत सिंह कई प्रकार से अपने जीवन में संघर्ष करते हुए आगे बढ़े, जिसमें उनका साथ देश की जनता ने दिया और जिनके बारे में पढ़कर आज भी हम गर्व महसूस करते हैं।

10 Lines On Bhagat Singh In English


  1. Bhagat Singh was born on 28 September 1907 in Banga village.
  2. Bhagat Singh knew almost all languages, including Urdu, Punjabi, Bengali and Hindi.
  3. Bhagat Singh’s father’s name was Sardar Kishan Singh and mother’s name was Vidyavati Singh.
  4. Bhagat Singh’s father was a farmer and his mother Vidyavati was a housewife.
  5. Bhagat Singh had decided to leave school at the young age of 13 and after that he decided that he would devote his life to the service of the country.
  6. Bhagat Singh completed his schooling from Dayanand Anglo Vedic High School.
  7. After completing his schooling, Bhagat Singh took admission in National College Lahore in 1923.
  8. Bhagat Singh along with Chandrashekhar Azad founded the Hindustan Socialist Republican Association.
  9. Bhagat Singh was very sad after seeing the incident like Jallianwala Bagh massacre and since then Bhagat Singh was determined to free his country from the clutches of the British.
  10. His father Kishan Singh and both his uncles Sardar Swaran Singh and Ajit Singh were jailed for going against the British Empire and Bhagat Singh was born on the day they were released from jail and because of this Bhagat Singh was called Bhagowala. Means he was called lucky.

5 Lines On Bhagat Singh In English


  1. Bhagat Singh was a true patriot, he became an outstanding peerless revolutionary at a very young age.
  2. In every mission of Bhagat Singh, prominent revolutionaries like Rajguru and Chandrashekhar Azad used to support him.
  3. Bhagat Singh killed a police officer John Saunders on 17 December 1927 and with this he avenged Lala Lajpat Rai and fulfilled his resolve, which cost him jail.
  4. Bhagat Singh threw a bomb on the Delhi Niti Vidhansabha on 8 April 1929, for which he was arrested.
  5. Bhagat Singh and his companions Sukhdev, Gurudev were hanged on March 23, 1931 by the British government.

Few 15 Lines On Bhagat Singh In English


  1. We take the name of Bhagat Singh with pride today, who was born on 27 September 1907 in Lyallpur district and is now located in present day Pakistan.
  2. He had sacrificed his life while making his important contribution in the freedom struggle.
  3. It is believed that in childhood, Bhagat Singh loved watching movies and eating rasgulla, he used to watch Charlie Chaplin movies secretly.
  4. Apart from being a patriot, Bhagat Singh was also a philosopher, thinker, writer, journalist and a man of great personality.
  5. Apart from Hindi language, Bhagat Singh also knew Urdu, English, Sanskrit, Bengali, Punjabi and Irish languages very well.
  6. Influenced by Gandhi’s non-cooperation movement, Bhagat Singh left his school and focused his attention on patriotism.
  7. Bhagat Singh belonged to a Sikh family, where keeping a beard and hair was considered very important, but he had his hair cut to avoid the British.
  8. Bhagat Singh had refused to marry and wanted him to continue working for his country.
  9. Bhagat Singh worked for the main organization Naujawan Bharat Sabha, Hindustan Socialist Republican Association.
  10. The main slogans of Bhagat Singh were Inquilab Zindabad, the destruction of imperialism, which we remember even today.
  11. When the Jallianwala Bagh massacre happened, Bhagat Singh was 11 years old and saddened by that murder case, he decided to pursue his life as a patriot, where he had done the work of awakening many people for the country. .
  12. Bhagat Singh was a true hearted patriot, who never did any work against the country and kept motivating the countrymen all the time.
  13. Bhagat Singh died on 23 March 1931, where he was hanged along with Sukhdev and Rajguru, but there was not a wrinkle on his face.
  14. Even today, the name of Bhagat Singh is taken with pride, where he sacrificed his life without thinking and also worked to awaken the young generation of the country.
  15. In this way, Bhagat Singh went ahead fighting in his life in many ways, in which the people of the country supported him and after reading about whom we feel proud even today.

इन्हे भी पढ़े :-

तो यह थे वह 10 पंक्तिया भगत सिंह के बारे में। आशा करता हूं कि भगत सिंह पर हिंदी और इंग्लिश में 10 पंक्तिया (10 Lines On Bhagat Singh In Hindi And English) आपको पसंद आयी होगी। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा है, तो इस लेख को सभी के साथ शेयर करे।

Sharing is caring!